>>>

>>>

यौन समस्याओं से पीड़ित हैं 40 फीसदी महिलाएं

Surakshit Sex Karne Ke Tarike in Hindi | सुरक्षित सेक्स के

Publication date: 2018-01-25 06:50.

कई गलत फैसले शराब और ड्रग्&zwj स के प्रभाव में लिये जाते हैं। तो सेक्&zwj सुअल क्रिया से पहले और दौरान अल्&zwj कोहल या अन्&zwj य नशीले पदार्थों का सेवन न करें।

AMUST READ FOR ALL MEN : List of 59 free Ayurvedic

हमारी साइट ब्राउज़ करते समय कृपया हमें उन समस्याओं के बारे में बताएं जो आप सामना कर रहे हैं हमें इसका समाधान करने में खुशी होगी

Mrignabhyadi vati is an exceptional Ayurveda home remedy for the treatment of erectile dysfunction. It is one of the best vajikarana Ayurveda remedy, which provides strength and power to entire nervous system and whole body. Mrignaabhyaadi vati is ayurveda's gift to the men suffering from sexual weakness. This remedy is very expensive hence, only rich and well-off people can use it. Here we are listing all its details free for you.

Ingredients of Mrignabhyadi Vati – kasturi – 7 grams, kesar – 9 gram, chhoti ilaychi ke daane – 5 gram, jaayfal – 6 gram, banshlochan – 7 gram, javitri – 8 gram, vark of gold – 6 gram, vark of silver – 8 gram , muktapishti – 9 gram. Total weight – 95 gram.

Preparation method of Mrignabhyadi Vati – mix and grind all ingredients together to prepare a thin powder. Now put some juice of naagar paan in it and mix/grind further. Now prepare 875 very small pills out of this mixture and dry them. Then keep them in a bottle. Your mrignabhyadi vati is prepared.

Advantages and health benefits of Mrignabhyadi Vati – a normal healthy person can also use this medicine. This expensive Ayurveda home remedy is equally useful for both men and women. This remedy is ayurveda's gift to eliminate all male sexual disorders. It effectively treats nocturnal emission, premature ejaculation, semen disorders, erectile dysfunction and overall impotence. Mrignabhyadi vati keeps the body disease-free and increases the age.

संभोग के लिए लुब्रिकेट कण्&zwj डोम ही इस्&zwj तेमाल करें। लुब्रिकेशन न सिर्फ कण्&zwj डोम को फटने से बचाता है, बल्कि इससे पहनना और इस्&zwj तेमाल करना भी आसान होता है। इतना ही नहीं अधिक लुब्रिकेशन से आपकी महिला साथी को संभोग का अधिक आनंद आता है।


8) Lesser production of semen and sperms - Excessive indulgence in sexual activities (sex addiction), too much masturbation and continued sexual thoughts, porn watching habits and erotic material reading also badly affect the semen production system and result in Erectile Dysfunction. In elderly or middle aged men, the natural death of cells of different body parts and long term sexual addiction are the main causes of low semen production which result in Erectile Dysfunction.

ओरल सेक्&zwj स से कई प्रकार के संक्रमण हो सकते हैं। कई ऐसे उदाहरण भी सामने आये हैं, जब ओरल सेक्&zwj स से व्&zwj यक्ति को कैंसर होने की बात सामने आयी है। इससे बचने का एक तरीका यह है कि ओरल सेक्&zwj स करते हुए आप कण्&zwj डोम का उपयोग करें। बाजार में आजकल फ्लेवर कण्&zwj डोम उपलब्&zwj ध हैं। हां, संभोग के लिए सामान्&zwj य लुब्रिकेटेड कण्&zwj डोम का ही इस्&zwj तेमाल करें।

चाहे आप पहली बार संभोग करने जा रहे हों या फिर आप अनुभवी हों, कण्&zwj डोम सुरक्षा का सबसे बड़ा जरिया है। यह न केवल आपको अनचाहे गर्भ से बचाता है, बल्कि यह एचआईवी/एड्स और अन्&zwj य कई यौन रोगों से भी आपकी रक्षा करता है। ओर हां, एक समय में एक ही कण्&zwj डोम पहनें, दो कण्&zwj डोम पहनने से आपको नुकसान ही होगा।

More pictures«यौन समस्याओं से पीड़ित हैं 40 फीसदी महिलाएं».

leave a comment